जीन्स के जेबों में गोल-गोल छोटे-छोटे बटन क्यों होते हैं | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

GK In Hindi General Knowledge जीन्स के जेबों में गोल-गोल छोटे-छोटे बटन क्यों होते हैं : आप लोग ज्यादा तर जींस ( Jeans ) ही पहनते होंगे और उसमें आपने देखा होगा कि उस पर छोटे-छोटे बडन लगे होते हैं ! जींस की पॉकोट्स ( Jeans Pockests ) पर लगे होते हैं ये छोटे-छोटे बटन ( Small Buttons ), तो आपने उन्हें देखने के बाद आपके मन में ये सवाल आया कि आखिर ये क्यों लगे होते हैं ! इतना ही नहीं कई लोग तो हमेशा से ही यहीं सोचते है कि जींस के ये छोटे-छोटे ( Small Button In Jeans ) बटनों को महज दिखावे के लिए लगाया जाता होगा, लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें ऐसा नहीं है !

जीन्स के जेबों में गोल-गोल छोटे-छोटे बटन क्यों होते हैं | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

जीन्स के जेबों में गोल-गोल छोटे-छोटे बटन क्यों होते हैं | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

जीन्स के जेबों में गोल-गोल छोटे-छोटे बटन क्यों होते हैं | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

जींस ( Jeans ) का आविष्कार मजदूरों के लिए किया गया था ! ऐसा इसलिए क्योंकि ज़्यादा काम करने की वजह से मजदूरों के कपडे अक्सर फट जाया करते थे ! साल 1850 तक जींस बहुत मशहूर हो गए थे, लेकिन जींस में अभी भी एक समस्या थी ! जींस ( Jeans ) की जेब बहुत जल्दी फट जाया करती थी ! अक्सर मिलों, फैक्ट्रियों, खदानों में काम करने वाले मजदूर इनका इस्तेमाल किया करते थे ! कड़ी मेहनत और जेबों में टूल्स रखने के चलते या तो वो फट जाया करते थे या उनकी सिलाई खुल जाती थी !

इसलिए होते हैं जिंस में छोटे-छोटे बटन | GK In Hindi 

इसी के चलते जैकब डेविस नाम के दर्जी ( Tailor Jacob Davis ) ने जींस ( Jeans ) में बटन लगा दी ! इस तरीके से नाही जेब और मजबूत हुईं बल्कि जींस और सुन्दर दिखने लगी ! साल 1870 में जैकब दरजी ( Tailor Jacob Davis ) ने इसे पेटेंट करवाने की कोशिश किया, लेकिन उसके पास पेटेंट के लिए लगने वाली बड़ी राशि नहीं थी ! उसके बाद उसने 3 साल बाद लेवी कंपनी के साथ एक समझौता किया और लेवी कंपनी ने इसे अपने नाम पेटेंट करवा लिया !

ये है कहानी जींस मे लगे छोटे-छोटे बटनों की  

GK In Hindi General Knowledge बता दें कि फिर साल 1880 में यह पेटेंट पब्लिक हो गया और अब इसे कोई भी इस्तेमाल कर सकता है ! हमारी जींस ( Jeans ) में आजतक उसी प्रथा के चलते छोटे-छोटे बटन लगे होते हैं, तो ये थी जींस की जेबों में लगी छोटी-छोटी बटनों ( Small Button In Jeans ) की पूरी कहानी !जीवन में कई रहस्य ऐसे होते हैं जिन्हें हम कभी समझ ही नहीं पाते। लेकिन आपकी जींस की जेब पर लगे धातु के बटन? आइए सूची से उस एक को हटा दें। जबकि आप शायद इन डिज़ाइन विवरणों को वास्तव में कभी नहीं देखते हैं, वे वास्तव में वास्तव में एक अच्छे कारण के लिए हैं।

Advertising
Advertising

लेवी स्ट्रॉस द्वारा पेटेंट कराया गया, इन बटनों को रिवेट्स कहा जाता है और वे यह सुनिश्चित करने के लिए होते हैं कि आपका डेनिम पहनने के लिए धारण करता है और आपके शरीर को फाड़ देता है जैसे आप प्रत्येक दिन आगे बढ़ते हैं। यह विचार 1829 का है | GK In Hindi General Knowledge जब स्ट्रॉस ने देखा कि खनिक लंबे समय तक काम के दिनों में अपनी पैंट नहीं चलने की शिकायत कर रहे थे। हम डिजाइन पर फॉलो-थ्रू के लिए स्ट्रॉस को धन्यवाद दे सकते हैं, लेकिन यह वास्तव में दर्जी जैकब डेविस थे जिन्होंने स्ट्रॉस को 1872 में इस मुद्दे को प्रकाश में लाते हुए एक पत्र भेजा था। उन्होंने साझा किया कि उन्होंने अपने स्वयं के काम के माध्यम से पता लगाया कि तांबे के रिवेट्स के साथ जीन पर जेब और अन्य कमजोर बिंदुओं को मजबूत करने से उन्हें लंबे समय तक चलने में मदद मिली |

GK In Hindi General Knowledge

वह स्ट्रॉस और डेविस के रिश्ते का अंत नहीं था। जबकि डेविस के गृहनगर रेनो में पॉकेट डिज़ाइन लोकप्रिय था, वह इस विचार को पेटेंट कराने में मदद करने के लिए किसी की तलाश कर रहा था। स्ट्रॉस सहमत हुए, और डेविस को अपनी कंपनी के प्रोडक्शन मैनेजर के रूप में लाया। तो, धन्यवाद, लेवी स्ट्रॉस और जैकब डेविस, यह सुनिश्चित करने के लिए कि पूरी रिप्ड पैंट की स्थिति पॉकेट एरिया से साफ हो जाती है

यह भी पढे़ं :-  आजकल जुगनू क्यों नहीं दिखाई देते है | यहां जानें GK In Hindi

बिजली का झटका लगने से इंसान की मौत क्यों हो जाती है | यहां जानें GK In Hindi General Knowledge

जुड़वा बच्चे कैसे पैदा होते हैं | यहां जानें GK In Hindi General Knowledge

Join Whatsapp Group : सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Whatsapp Group से जुड़े