Ration Card Rules Change : राशन कार्ड के नियम बदलें, जाने कैसे अपडेट करें अपना Ration Card

Ration Card Rules Change  : अब मोबाइल एप के जरिए राशन कार्ड ( Ration Card ) से जुड़ी सभी समस्याओं का समाधान किया जा सकेगा। सरकार ने हाल ही में ‘मेरा राशन’ मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। राशन कार्ड धारकों को सरकार से अनाज मिलता है। यह माय राशन ऐप ( MY Ration APP )  10 भाषाओं में है। एप की मदद से राशन कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। राशन कार्ड डाउनलोड किया जा सकता है। यह देखा जा सकता है कि राशन कार्ड पैन कार्ड से जुड़ा है या नहीं।

Ration Card Rules Change

Ration Card Rules Change

Ration Card Rules Change

इस राशन कार्ड ( Ration Card ) ऐप में माइग्रेशन की सुविधा उपलब्ध है। यदि आप एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते हैं, तो आप पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं। ऐप की मदद से यह भी पता लगाया जा सकता है कि राशन कार्ड धारक को क्या-क्या चीजें मिल रही हैं।

योनकर्मियों को भी जारी होगा राशन कार्ड

सुप्रीम कोर्ट ने एक अहम फैसला देते हुए कहा कि मौलिक अधिकार हर नागरिक का अधिकार है. कोर्ट ने मंगलवार को योन वर्कर्स को वोटर आईडी कार्ड, आधार और राशन कार्ड ( Ration Card ) जारी करने का आदेश दिया और कहा कि केंद्र, सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश योन वर्कर्स को पहचान पत्र जारी करें. इतना ही नहीं कोर्ट ने राशन देने के भी निर्देश जारी किए हैं.

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने एनजीओ दरबार महिला समन्वय समिति की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया. याचिका में कहा गया है कि कोरोना महामारी के दौरान योन वर्कर्स को दिक्कतों का सामना करना पड़ा था, जिसे लेकर याचिका में इन बातों को उठाया गया था. इससे पहले पिछले साल 29 सितंबर को अदालत ने केंद्र और अन्य को निर्देश दिया था कि वे उनसे पहचान का सबूत मांगे बिना राशन ओर राशन कार्ड ( Ration Card ) मुहैया कराएं।

Advertising
Advertising

कोर्ट ने चार हफ्ते में मांगी रिपोर्ट

पीठ ने कहा कि यौनकर्मियों को राशन कार्ड ( Ration Card ), मतदाता पहचान पत्र और आधार कार्ड जारी करने के संबंध में स्थिति रिपोर्ट चार सप्ताह के भीतर दी जानी चाहिए। पीठ ने अपने आदेश में कहा कि आदेश की प्रति राज्य और जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों को आवश्यक कार्रवाई के लिए भेजी जाए. इसके साथ ही सरकार को विभिन्न पहचान पत्र बनाते समय यौनकर्मियों के नाम और पहचान को गोपनीय रखने के भी निर्देश दिए गए हैं. कोर्ट ने कहा है कि जल्द से जल्द रिपोर्ट दी जाए।

इससे पहले कोर्ट ने राशन कार्ड जारी करने के निर्देश दिए थे

आपको बता दें कि जस्टिस एल नागेश्वर राव, जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस बीवी नागरत्ना ने इस बात पर नाराजगी जताई कि योन वर्कर्स को राशन मुहैया कराने का निर्देश 2011 में जारी किया गया था, लेकिन इसे अभी तक लागू नहीं किया गया है. पीठ ने कहा, राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को करीब एक दशक पहले राशन कार्ड ( Ration Card ) और पहचान पत्र जारी करने का निर्देश दिया गया था. ऐसा कोई कारण नहीं है कि उन निर्देशों को अब तक लागू नहीं किया गया है।

नई सेवा के तहत दी जाने वाली सुविधाएं : Ration Card Rules Change

  1. आप कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से राशन कार्ड को अपडेट कर सकते हैं ( Ration Card at CSC )
  2. राशन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ा जा सकता है।
  3. आप अपने राशन कार्ड का डुप्लीकेट प्रिंट भी प्राप्त कर सकते हैं।
  4. इससे राशन की उपलब्धता के बारे में भी जान सकते हैं।
  5. आप राशन कार्ड से संबंधित शिकायत कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से भी कर सकते हैं।
  6. राशन कार्ड खो जाने पर नए राशन कार्ड के लिए भी आवेदन किया जा सकता है।

डिजिटल इंडिया द्वारा दी गई जानकारी

डिजिटल इंडिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर राशन कार्ड ( Ration Card ) से जुड़ी यह अहम जानकारी दी है. डिजिटल इंडिया के मुताबिक, ‘कॉमन सर्विस सेंटर सुविधा ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इससे देशभर में 3.70 लाख सीएससी के जरिए राशन कार्ड ( Ration Card ) सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी ।

PM-Kisan 12th Installment Released : पीएम मोदी ने जारी की PM Kisan Yojana की 12वीं किस्त, देखें नाम