PM Awas Yojana Rules Change : आवास योजना के नियम बदलें , इन ग़लतियों से निरस्त हो जाएगा आवंटन

PM Awas Yojana Rules Change : प्रधानमंत्री आवास योजना ( Pradhan Manrti Awas Yojana ) केंद्र सरकार की योजना है। इस योजना के तहत देश के कमजोर और मध्यम वर्ग के लोगों को रहने के लिए घर उपलब्ध कराया जाता है। पीएम आवास योजना ( PM Awas Yojana ) में  सरकार द्वारा बैंक ऋण पर सब्सिडी दी जाती है ताकि लाभार्थी किफायती दरों पर घर मिल सके। पीएम आवास योजना में लक्ष्य को पूरा करने के लिए इस पीएम आवास योजना ( PM Housing Scheme ) को 2024 तक लागू रखने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत केवल PMAY ग्रामीण की अवधि को बढ़ाया गया है।

PM Awas Yojana Rules Change

PM Awas Yojana Rules Change

Pradhan Manrti Awas Yojana Rules Change

प्रधानमंत्री आवास योजना ( Pradhan Manrti Awas Yojana ) की अवधि बढ़ने से अब ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लाखों लोगों को इसका लाभ मिलेगा। बता दें कि पीएम आवास योजना ( PM Awas Yojana ) के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 2.95 करोड़ पक्के मकान आवंटित करने का लक्ष्य रखा गया है. लेकिन अभी तक इस पीएम आवास योजना ( PM Housing Scheme ) के तहत 2 करोड़ पक्के मकान ही बन पाए हैं। शेष 95 लाख घरों का निर्माण अभी बाकी है।

Pradhan Manrti Awas Yojana के नियम बदले

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना ( Pradhan Manrti Awas Yojana ) के नियमों में बदलाव किया है. इन नियमों को इसलिए बदला गया है क्योंकि बहुत से लोग पीएम आवास योजना ( PM Awas Yojana ) के माध्यम से घर बनवाते थे। लेकिन बाद में वह सरकार की आंखों में धूल झोंकने के लिए कई गलतियां करते थे। ऐसे में प्रधानमंत्री आवास योजना ( PM Housing Scheme ) के नए नियमों को जानना जरूरी है।

क्या है PM Awas Yojana का नया नियम

PM Housing Scheme के नए नियमों के तहत अगर किसी व्यक्ति को प्रधानमंत्री आवास योजना ( Pradhan Manrti Awas Yojana ) में मकान आवंटित किया गया है। तो उसके बाद भी सरकार इस पर नजर रखेगी कि वह व्यक्ति उस घर में रह रहा है या नहीं। यदि संबंधित व्यक्ति उस मकान में पांच वर्ष तक नहीं रहता है तो पीएम आवास योजना ( PM Awas Yojana ) का आपका आवंटन निरस्त कर दिया जायेगा।

Advertising
Advertising

सरकार के नए नियमों के अनुसार यदि सरकार किसी व्यक्ति के नाम पर प्रधानमंत्री आवास योजना ( Pradhan Manrti Awas Yojana ) आवंटित करती है और संबंधित व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो सरकार द्वारा उस घर को उसके परिवार के नाम स्थानांतरित कर दिया जाएगा। लेकिन ट्रांसफर होने के बाद भी केडीए संबंधित व्यक्ति के साथ कोई समझौता नहीं करेगा। सरकार इस बात का ध्यान रखेगी कि वह व्यक्ति पीएम आवास योजना ( PM Awas Yojana ) में मिले उस घर में पांच साल तक रहे या नहीं। मतलब सरकार जानना चाहती है कि क्या संबंधित व्यक्ति वास्तव में इस पीएम आवास योजना ( PM Housing Scheme ) के लिए जरूरतमंद व्यक्ति है या नहीं। उस मकान में पांच साल रहने के बाद ही सरकार द्वारा लीज बहाल की जाएगी।

ऐसे करें आवेदन : PM Housing Scheme

  • सबसे पहले इच्छुक व्यक्ति को पीएम आवास योजना ( PM Awas Yojana ) की आधिकारिक वेबसाइट ( pmaymis.gov.in ) पर जाना होगा।
  • वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर 2 विकल्प होंगे। 3 घटकों और स्लम में रहने वाले के तहत लाभ
  • 3 घटकों के तहत लाभ: इसमें वे लोग आते हैं जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर होती है, वे पक्का घर नहीं बना पाते हैं।
  • स्लम में रहने वाले- इस श्रेणी में वे लोग आते हैं जो झुग्गी-झोपड़ियों में रहते हैं।
  • संबंधित व्यक्ति अपनी श्रेणी के अनुसार आवेदन कर सकता है

यदि कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री आवास योजना ( Pradhan Manrti Awas Yojana ) में ऑनलाइन आवेदन में भ्रमित हो रहा है तो बहुत ही कम शुल्क देकर नजदीकी नागरिक सेवा केंद्र या ई-मित्र पर जाकर आवेदन किया जा सकता है।

Pradhan Manrti Awas Yojana में तीन किस्तों में दी जाएगी आर्थिक सहायता

पीएम आवास योजना ग्रामीण ( PM Housing Scheme ) के तहत सरकार की ओर से तीन किस्तों में सहायता दी जाएगी। इसमें पहली किश्त मकान की मंजूरी मिलने के बाद दी जाएगी। पीएम आवास योजना ( PM Awas Yojana ) की दूसरी किश्त तब दी जाएगी जब आप अपने घर की नींव या नींव रखेंगे और तीसरी और आखिरी किस्त का भुगतान घर के पूरा होने के बाद कभी भी किया जा सकता है । लाभार्थी को प्रधानमंत्री आवास योजना ( Pradhan Manrti Awas Yojana ) में शौचालय निर्माण हेतु 12 हज़ार की राशि भी प्रदान की जाती है !

यह भी जानें – PM Fasal Bima Yojana Update : फसल बीमा में इन बातों का रखें ध्यान , तभी मिलेगा योजना का लाभ

Rajasthan Kisan Karj Mafi Yojana : अचानक जारी हुई किसान क़र्ज़ माफ़ी की सूची, इन 53 हज़ार किसानों का माफ़ हुआ पूरा क़र्ज़