Health Insurance Policy : हेल्‍थ इंश्‍योरेंस पॉलिसी में OPD कवर नहीं है शामिल तो फिर घाटे में रहेंगे

Health Insurance Policy : स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance ) बढ़ते चिकित्सा खर्चों का बोझ उठाने का सबसे अच्छा तरीका है ! यही कारण है ! कि अब लोग स्वास्थ्य बीमा के प्रति जागरूक हो गए हैं ! कोविड-19 के बाद स्वास्थ्य बीमा लेने वालों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि ( Health Insurance Hike ) हुई है !

Health Insurance Policy

"<yoastmark

अधिकांश पारंपरिक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों ( Health Insurance Policy ) में ओपीडी कवर ( OPD Cover ) शामिल नहीं है ! इसका मतलब यह हुआ ! कि अगर आप बिना अस्पताल ( Hospital ) जाए इलाज करवाते हैं ! तो आपको अपनी जेब से खर्च करना होगा ! यह लागत बहुत अधिक है ! इसलिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में ओपीडी कवर होना बेहद जरूरी है !

पॉलिसी में ओपीडी कवर

मोनेकॉंट्रोल पॉलिसी बाजार ( Monecontrol Policy Market )  के स्वास्थ्य और यात्रा बीमा प्रमुख अमित छाबड़ा का कहना है ! कि ओपीडी कवर ( Health Insurance OPD Cover ) के महत्व को इस तथ्य से समझा जा सकता है ! कि कुल स्वास्थ्य देखभाल खर्च का 70 प्रतिशत तक केवल ओपीडी खर्च होता है ! ज्यादातर बीमारियों में मरीज को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं होती है ! उसे सिर्फ डॉक्टर से सलाह लेकर अस्पताल जाना पड़ता है ! और टेस्ट आदि करवाकर दवाएं भी लेनी होती हैं !

अब कंपनियां बीमा पॉलिसी ( Company Insurance Policy ) में या तो इन-बिल्ट या ऐड-ऑन के तौर पर ओपीडी कवर ( OPD Cover ) मुहैया करा रही हैं ! इसलिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ( Health Insurance Policy ) लेते समय यह सुनिश्चित कर लें कि आपकी पॉलिसी में ओपीडी कवर हो ! अगर पॉलिसी में इनबिल्ट ओपीडी कवर नहीं है तो इसे ऐड ऑन के जरिए पॉलिसी में जोड़ें !

Advertising
Advertising

इन बातों का रखें ध्यान

ओपीडी कवर ( OPD Cover ) के साथ आने वाली कोई भी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी ( Health Insurance Policy ) या ओपीडी एड-ऑन लेने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए ! उपर्युक्त खर्चों के अलावा, कई कंपनियां ओपीडी कवर में लैब टेस्ट, एक्स-रे, टीकाकरण, आंख, कान और दंत चिकित्सा के खर्च के लिए भी भुगतान करती हैं ! इसलिए आपको ऐसी पॉलिसी लेनी चाहिए जिसमें आपको यह सब मिले !

प्रतीक्षा अवधि और बीमा राशि : Health Insurance Policy

ओपीडी कवर ( OPD Cover ) के साथ आने वाली कुछ पॉलिसी में वेटिंग पीरियड होता है ! जबकि कुछ में ऐसी कोई शर्त नहीं होती है ! इसलिए वेटिंग पीरियड के बारे में जरूर जान लें ! इसकी कुछ कंपनियां 3,000 रुपये से लेकर 50,000 रुपये तक की बीमा राशि की पेशकश करती हैं ! यह जानकारी भी प्राप्त करें !

ओपीडी कवर वाली पॉलिसी लेते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अगर आप कैशलेस विकल्प का चुनाव कर रहे हैं तो यह सुविधा कंपनी ( Insurance Company ) के नेटवर्क अस्पताल में ही उपलब्ध होगी ! अन्य अस्पतालों में नहीं ! इसलिए पॉलिसी ( Health Insurance Policy ) लेते समय उस कंपनी को चुनें जिसके पास ज्यादा नेटवर्क हॉस्पिटल हो !

यह भी जानें :- 

Kisan Vikas Patra Yojana : 124 महीने में डबल करना है पैसा तो इस योजना में करें निवेश

Post Office Best Plan : पोस्ट ऑफिस स्कीम में दोगुना पैसा, मैच्योरिटी पर मिलेंगे 2 लाख के 4 लाख रुपये

SBI Saral Pension Yojana Benefits : एसबीआई पेंशन लाभार्थियों के लिए ख़ुशख़बरी, जानें