E Shram Card Rules : सिर्फ़ ये लोग ही बनवा सकतें है ई श्रम कार्ड, देखें पूरी सूची

E Shram Card Rules : पूरे भारत के श्रमिक ( Labour ) परिवारों के लिए मोदी सरकार की ई श्रम कार्ड ( E Shram Card ) योजना के प्रति लोगों का उत्साह अब ठंडा पड़ गया है. इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) में गरीब श्रमिक परिवारों को एक हजार रुपये प्रतिमाह भत्ता देने की घोषणा के बाद से ई-श्रमिक कार्ड बनाने की होड़ कहीं नहीं दिख रही है ! मज़दूरों ( Worker ) को बता दें कि इसके तहत दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा भी मिलता है।

E Shram Card Rules

E Shram Card Rules

E-Shram Card Rules

30 दिसंबर 2021 को रिकॉर्ड 80 लाख श्रमिकों ( Labour ) को ई-श्रमिक कार्ड जारी किए गए। उसके बाद यह संख्या घटती चली गई। 19 जून रविवार को देशभर में सिर्फ 36447 कार्ड बने। अब तक 27 करोड़ 86 लाख 20 हजार 803 लोगों ( Worker ) ने ई श्रम कार्ड ( E Shram Card ) पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराया है।

उत्तर प्रदेश  ( Uttar Pradesh )अभी भी पंजीकरण में पहले नंबर पर है। यहां अब तक 8.28 करोड़ श्रमिकों ( Labour ) ने रजिस्ट्रेशन कराया है। वहीं दूसरे नंबर पर बिहार है, जहां कुल 2.83 करोड़ लोगों के पास। ई श्रम कार्ड ( E Shram Card ) हैं. तीसरे नंबर पर पश्चिम बंगाल और चौथे नंबर पर मध्य प्रदेश है, जहां क्रमश: 2.55 करोड़ 1.62 करोड़ मज़दूरों ( Worker ) के पास ई-श्रमिक कार्ड हैं।

भारत के गरीब श्रमिक ( Labour ) परिवारों को केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का सीधा लाभ देने के लिए श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा ई-श्रम कार्ड शुरू किया गया है। इस ई श्रम कार्ड ( E Shram Card ) का मुख्य उद्देश्य सभी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का एक केंद्रीकृत डेटाबेस बनाना और श्रमिकों ( Worker )  को उनके कौशल के अनुसार रोजगार प्रदान करना है।

Advertising
Advertising

सिर्फ़ ये लोग बनवा सकतें है अपना ई श्रम कार्ड  : E Shram Card Rules

  1. खेतिहर मज़दूर
  2.  दूध किसान
  3.  सब्जी और फल विक्रेता
  4. प्रवासी मजदूर ( Labour )
  5. ईंट भट्ठा मजदूर
  6. मछुआरे, आरा मिलों के मजदूर
  7. बीडली रोलिंग
  8. लेबलिंग और पैकिंग
  9. बढ़ई, रेशम उत्पादन कार्यकर्ता
  10. नमक कार्यकर्ता
  11. चर्म उद्योग कार्यकर्ता
  12. भवन और निर्माण श्रमिक
  13. चमड़ा श्रमिक
  14. घरेलू श्रमिक
  15. नाई
  16. अखबार बेचने वाले
  17. रिक्शा चालक
  18. ऑटो चालक
  19. रेशम उत्पादन कार्यकर्ता
  20. घर की नौकरानी
  21. सड़क विक्रेताओं
  22. मनरेगा कार्यकर्ता

E-shram card धारकों के अकाउंट में आई दूसरी किस्त

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) सरकार ने जनवरी महीने में राज्य के 50 लाख से अधिक लाभार्थियों के खातों में 1000-1000 रुपये ट्रांसफर भी किए थे. लेकिन अभी भी लाखों श्रमिक ऐसे हैं जिनका ई श्रम कार्ड ( E Shram Card ) बन चुका है। लेकिन उनके खाते में योजना के 1000 रुपये नहीं पहुंचे। दरअसल, श्रम विभाग द्वारा चलाई जा रही (श्रमिक कार्ड) योजना का लाभ राज्य के असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों ( Labour ) को दिया जा रहा है ! श्रमिक कार्ड योजना का सबसे अधिक लाभ उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को मिला है। अकेले उत्तर प्रदेश से इस योजना के तहत 6 करोड़ से मज़दूरों ( Worker ) ने अधिक पंजीकरण किए गए हैं।

चुनाव के कारण रोकी गई थी किस्त

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा जारी शासनादेश के अनुसार राज्य के असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले सभी पात्र श्रमिकों ( Worker ) को 4 महीने के लिए 500-500 प्रति माह यानी कुल 2000 दिया जाना है ! जिसमें से सरकार ने राज्य के ई श्रम कार्ड ( E Shram Card ) धारक कई श्रमिकों के बैंक खातों में ₹1000 भेजे हैं। लेकिन अभी भी कई श्रमिकों का सत्यापन बाकी है। आपको बता दें कि वेरिफिकेशन होते ही मजदूरों के खाते में पैसे ट्रांसफर किए जा रहे हैं. जब वेरिफिकेशन हो जाएगा तो पैसा दूसरे श्रमिकों ( Labour ) के खाते में भी पहुंच जाएगा।

यह भी जानें – PM Jan Dhan Account : कैसे खोले खाता और उस पर लोन कैसे ले, यहां जानें प्रक्रिया

PM Kaushal Vikas Yojana Update : कौशल विकास योजना का तीसरा चरण लागू , जानें कैसे ले PMKVY का लाभ